+

केंद्रीय मंत्री के घर चल रहा था जुआ, विनय हार गया था 12000, फिर हुई लड़ाई और इस शख्स ने मारी गोली

Lucknow Crime News: केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के बेटे विकास किशोर उर्फ आशु के ठाकुरगंज के बेगरिया स्थित आवास पर शुक्रवार को गोलीबारी की घटना…
featuredImage

Lucknow Crime News: केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर के बेटे विकास किशोर उर्फ आशु के ठाकुरगंज के बेगरिया स्थित आवास पर शुक्रवार को गोलीबारी की घटना में विनय श्रीवास्तव नामक युवक की मौत हो गई. पुलिस के अनुसार, इस मामले में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इस बीच जानकारी मिली है कि कौशल किशोर के बेटे विकास किशोर उर्फ आशु की 32 बोर की लाइसेंसी पिस्टल से ही विनय श्रीवास्तव की हत्या हुई थी. पुलिस को मौके से सांसद पुत्र के पिस्टल से चली गोली का खोखा भी बरामद हुआ है. वहीं, इस बीच जानकारी उस घटना की पूरी जानकारी मिली है, जिसके चलते विनय की जान गई.

जुए में विनय हार गया था 12 हजार रुपये?

प्राप्त जानकारी के अनुसार, घटना से पहले आशु के घर पर मृतक विनय श्रीवास्तव के साथ अजय रावत, अंकित वर्मा, शमीम उर्फ बाबा के अलावा सौरभ रावत और अरुण प्रताप सिंह उर्फ बंटी ने शराब पी और फिर जुआ खेला था. जुआ खेलने के दौरान मृतक विनय श्रीवास्तव 12000 रुपये हार गया था. खबर के अनुसार, अंकित वर्मा, अजय रावत और शमीम के कहने पर जुआ बंद हुआ और सौरभ रावत के साथ अरुण प्रताप सिंह उर्फ बंटी जुए में जीती रकम को लेकर चले गए.

इस शख्स पर है विनय को गोली मारने का आरोप

जुए में हारने के बाद विनय श्रीवास्तव अजय, अंकित और शमीम से नाराज हो गया. उसने आरोप लगाया की प्लानिंग के तहत गेम बंद करवाया गया और सौरभ व अरुण को जीतने के बाद हटा दिया गया. आरोप है कि विनय ने आरोप लगाया तो अंकित वर्मा, अजय रावत और शमीम उत्तेजित हो गए और हाथापाई करने लगे. झगड़ा ज्यादा बढ़ने पर अंकित वर्मा ने आशु की तकिया के नीचे रखी पिस्टल से कथित तौर पर विनय श्रीवास्तव के माथे पर गोली मार दी.

ADVERTSIEMENT

सपा ने भाजपा को घेरा

उधर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने एक बयान में कहा, ”उत्तर प्रदेश ऐसा प्रदेश बन गया है जहां आप कहीं पर भी सुरक्षित नहीं हैं. केंद्रीय मंत्री के घर पर हत्याएं हो रही हैं. यही नहीं हत्या केंद्रीय मंत्री के बेटे के रिवॉल्वर से हो रही है. यह कोई पहली घटना नहीं है. भाजपा की सरकार में मंत्रियों के घर अब अपराध के अड्डे बन गए हैं और इनका लाइसेंस दिया है उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने.”

Whatsapp share
facebook twitter