+

उमेश पाल हत्याकांड: ताबड़तोड़ एक्शन देख सहमा अतीक, SC में लगाई याचिका, बोला- जान को खतरा

प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड ने उत्तर प्रदेश को हिला कर रख दिया है. इस मामले को लेकर जहां जमकर सियासत हो रही है तो वहीं योगी सरकार भी पूरे् एक्शन में नजर आ रही है. इस मामले में पुलिस ने अब तक एक बदमाश का एनकाउंटर भी कर दिया है तो वहीं आज […]

प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड ने उत्तर प्रदेश को हिला कर रख दिया है. इस मामले को लेकर जहां जमकर सियासत हो रही है तो वहीं योगी सरकार भी पूरे् एक्शन में नजर आ रही है. इस मामले में पुलिस ने अब तक एक बदमाश का एनकाउंटर भी कर दिया है तो वहीं आज प्रयागराज में अतीक के करीबी के घर पर बुल्डोजर कार्रवाई भी की जा रही है.

अब लगता है कि यूपी में हो रहे इन ताबड़तोड़ एक्शन को देखकर गुजरात की जेल में बंद अतीक अहमद भी सहम गया है. उसे भी अपनी सुरक्षा की चिंता होने लगी है. दरअसल बाहुबली नेता अतीक अहमद ने अपनी सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. अतीक अहमद ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर कहा है कि उसे यूपी में दर्ज मामलों की सुनवाई के लिए गुजरात से बाहर ना भेजा जाए. उसकी सुरक्षा और जान को खतरा है.

‘फर्जी एनकाउंटर किया जा सकता है’

ADVERTSIEMENT

बता दें कि अतीक अहमद की ओर से वकील हनीफ खान ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. याचिका में अहमदाबाद जेल से यूपी की जेल में प्रस्तावित ट्रांसफर का विरोध किया गया है. अतीक की याचिका में कहा गया है कि यूपी सरकार के कुछ मंत्रियों के बयान से ऐसा लगता है कि उनका फर्जी एनकाउंटर किया जा सकता है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने माफिया और आरोपियों को मिट्टी में मिला देने की बात कही है. वहीं  उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक गाड़ी पलटने की आशंका भी जता चुके हैं.

याचिका में कहा गया है कि ऐसे में उन्हें यूपी भी लाया जाए तो सेंट्रल फोर्स की सुरक्षा में लाया जाए. वरना उनके मामलों का ट्रायल वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ही किया जाए. इसी के साथ याचिका में कहा गया है कि अगर पुलिस कस्टडी में रखकर ही पूछताछ करनी है तो गुजरात में ही कोर्ट परिसर के आसपास गुजरात पुलिस की निगरानी में ही ये सब किया जाए.

अतीक के वकील हनीफ खान का कहना है कि वह इस याचिका पर अर्जेंट सुनवाई की गुहार गुरुवार सुबह चीफ जस्टिस की कोर्ट में कर सकते हैं.

facebook twitter