+

जज से बोले मुख्तार अंसारी- “सरकार मुझसे नाराज, कहीं खाने में जहर न मिलवा दे”

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में चर्चित एम्बुलेंस कांड केस में 23 सितंबर को बांदा जेल से ‘बाहुबली’ विधायक मुख्तार अंसारी की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से एमपी-एमएलए कोर्ट के पीठासीन जज कमलनाथ श्रीवास्तव के सामने पेशी हुई. मुख्तार अंसारी के वकील रणधीर सिंह सुमन के मुताबिक, अंसारी ने जज कमलनाथ श्रीवास्तव से कहा, ”साहब जेल […]
featuredImage

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में चर्चित एम्बुलेंस कांड केस में 23 सितंबर को बांदा जेल से ‘बाहुबली’ विधायक मुख्तार अंसारी की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से एमपी-एमएलए कोर्ट के पीठासीन जज कमलनाथ श्रीवास्तव के सामने पेशी हुई.

मुख्तार अंसारी के वकील रणधीर सिंह सुमन के मुताबिक, अंसारी ने जज कमलनाथ श्रीवास्तव से कहा, ”साहब जेल मैन्युअल के हिसाब से मुझे विधायक होने के नाते उच्च श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करवा दीजिए, वैसे भी मुझसे राज्य सरकार नाराज है, कहीं खाने में जहर न मिलवा दे.”

सुमन ने बताया कि एमपी-एमएलए कोर्ट के जज कमलनाथ श्रीवास्तव ने कहा कि इस मामले में वह जल्द फैसला देंगे. इसके साथ ही जज ने सुनवाई की अगली तारीख सात अक्टूबर तय कर दी.

ADVERTSIEMENT

इसके अलावा सुमन ने बताया कि मुख्तार अंसारी की तरफ से जेल मैन्युअल के हिसाब से प्रार्थना पत्र दिया गया कि उन्हें जेल में उच्च श्रेणी की सुरक्षा दी जाए. सुमन के मुताबिक, अंसारी ने कहा, ”मुझे जेल में उच्च श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त होगी, तो खाने में जहर मिलाने का डर समाप्त हो जाएगा.”

BJP के नेता भी मुख्तार अंसारी के फाटक पर माथा टेकते हैं: ओम प्रकाश राजभर

Whatsapp share
facebook twitter